राजस्थान सरकारी शिक्षक भर्ती :राजस्थान में कुल 10 हजार पदों के लिए होगी नए शिक्षकों की भर्ती

राजस्थान सरकारी शिक्षक भर्ती :राजस्थान में कुल 10 हजार पदों के लिए होगी नए शिक्षकों की भर्ती



इन पदों पर शिक्षकों की होगी भर्ती:

1.वरिष्ठ अध्यापक के 121 पदों 

2.लेवल 2 शिक्षक के 1927 पद और लेवल 1 शिक्षकों 5736 पद ,और

3.शारीरिक शिक्षक ग्रेड थर्ड में 2232 पदों ,पर होगी नए टीचर्स की नियुक्ति।


शिक्षा विभाग ने कहा है कि पिछले 2 साल में प्रारंभिक शिक्षा विभाग में बढ़े नामांकन के कारण  शिक्षकों के नए पदों को स्वीकृति दी है। 
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में बढ़ते नामांकन के बाद अब शिक्षा विभाग में नए शिक्षकों के पद बढ़ने का रास्ता साफ हो गया है। सरकारी स्कूलों के लिए शिक्षकों के 10 हजार नए पद बनाए गए हैं। जिनमें वरिष्ठ अध्यापक के 121, लेवल 2 शिक्षकों के 1927, लेवल 1 शिक्षकों के 5736, शारीरिक शिक्षक के 2232 पद शामिल है। नए स्टाफिंग पैटर्न के बाद राजस्थान के सरकारी स्कूलों में नियुक्तियां दी जाएगी।

शिक्षा विभाग की ओर से मंगलवार को शिक्षा मंत्री ने शाला दर्पण पोर्टल को लाइव किया। पिछले 2 साल में प्रारंभिक शिक्षा विभाग में बढ़े नामांकन के साथ शिक्षकों के नए पदों की स्वीकृति दी है। छात्रों के अनुपात के आधार पर अब राजस्थान के सरकारी स्कूलों में नए टीचर्स की नियुक्ति होगी

गौरतलब है कि, पिछले दो सालों में राजस्थान के सरकारी स्कूलों में लगभग 5 लाख से ज्यादा नए नामांकन हुए हैं। जिसके चलते शिक्षा विभाग ने स्टाफिंग पैटर्न लागू कर हर स्कूल में शिक्षकों के नए पद बनाए हैं। हर स्कूल में छात्रों की संख्या के आधार पर शिक्षकों को नियुक्त किया जाएगा। बोर्ड के इस फैसले के बाद सबसे ज्यादा फायदा शारीरिक शिक्षकों को होगा, क्योंकि पहले जहां स्कूलों में 120 विद्यार्थियों पर एक शारीरिक शिक्षक  होता थी, वहीं नए स्टाफिंग पैटर्न के बाद अब 105 विद्यार्थियों पर एक शारीरिक शिक्षक की नियुक्ति की जाएगी। इसके साथ ही स्कूल में अल्पसंख्यक भाषा पढ़ने के इच्छुक 10 या इससे अधिक विद्यार्थी होने पर स्कूल में एक या एक से अधिक तृतीय भाषा के अध्यापक का अतिरिक्त पद भी बढ़ाया  गया है।

शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि राजस्थान सरकार निःशुल्क शिक्षा में सुधार के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। ऐसे में अब राजस्थान में सरकारी स्कूलों के प्रति आम आदमी की राय भी बदलने लगी है। उन्होंने कहा कि पिछले 2 सालों में 5 लाख से ज्यादा नए नामांकन हुए हैं। ऐसे में गुणवत्ता युक्त शिक्षा छात्रों तक पहुंच सके, इसी बात को ध्यान में रखते हुए स्टाफिंग पैटर्न के आधार पर हर विद्यालय को नए शिक्षक नियुक्त किए जा रहे हैं।


Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.