शिक्षक भर्ती में सरकार ने बढ़ाए पद, बेरोजगार अड़े: आरईईटी-2022 में होगी 20,000 शिक्षकों की भर्ती, बेरोजगार बोले- चल रही प्रक्रिया में ही भरें 50 हजार

शिक्षक भर्ती में सरकार ने बढ़ाए पद, बेरोजगार अड़े: REET-2022 में होगी 20,000 शिक्षकों की भर्ती, बेरोजगार बोले- चल रही प्रक्रिया में ही भरें 50 हजार


राजस्थान में आरईईटी- 2022 भर्ती परीक्षा में 20 हजार शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। सीएम अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई शिक्षा विभाग की बैठक में शिक्षक भर्ती के पदों को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है. इसके तहत राज्य में 14 और 15 मई को रीट-2022 का आयोजन किया जाएगा। हालांकि सरकार के इस फैसले के बावजूद बेरोजगारों का विरोध जारी है। उनका कहना है कि सरकार मौजूदा आरईआईटी-2021 भर्ती प्रक्रिया में ही पदों की संख्या 31 हजार से बढ़ाकर 50 हजार कर दे।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी
  सीएम गहलोत ने ट्वीट किया कि वर्ष 2022 में 14 और 15 मई को आरईईटी परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है, जिससे राज्य को लगभग 20,000 नए शिक्षक मिल सकेंगे। इस भर्ती में विशेष शिक्षकों के लिए भी प्रावधान किया जाएगा। युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे। साथ ही माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णयों को ध्यान में रखते हुए पारा शिक्षकों, शिक्षाकर्मियों, मदरसा पारा शिक्षकों एवं पंचायत सहायकों की समस्याओं के निराकरण के लिए समयबद्ध तरीके से कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिये गये हैं.

सैकड़ों युवा आंदोलन कर रहे हैं
  दरअसल, लंबे समय से प्रदेश के बेरोजगार आरईईटी परीक्षा 2021 में 31 हजार से बढ़ाकर 50 हजार करने की मांग कर रहे हैं। राज्य भर में पदों को बढ़ाने के साथ-साथ बेरोजगार लगातार सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, मांग कर रहे हैं। भर्ती विज्ञप्ति जारी करना। जिसके समर्थन में विपक्ष के साथ-साथ पूर्व उपमुख्यमंत्री से लेकर विधायक और सरकार के सलाहकार ने भी मुख्यमंत्री को पद बढ़ाने के लिए पत्र लिखा है. ऐसे में मुख्यमंत्री के इस ऐलान को बेरोजगार युवाओं की आवाजाही रोकने के साथ-साथ अपनों को खुश करने के लिए भी कहा जा रहा है.

  बेरोजगारों में रोष
  सरकार के फैसले के बाद भी 2021 में हुई रीत भर्ती परीक्षा के बाद ही पदों को बढ़ाकर 50,000 करने की मांग पर अड़े हुए हैं। बेरोजगारों का कहना है कि सरकार का यह फैसला लाखों बेरोजगारों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करेगा। क्योंकि 3 साल के लंबे अंतराल के बाद REET भर्ती परीक्षा आयोजित की गई थी। ऐसे में उनकी उम्र सीमा खत्म हो जाएगी। वहीं लंबे समय से की गई तैयारियों पर भी पानी फिर जाएगा। इसलिए पुरानी भर्ती प्रक्रिया में ही पदों की संख्या बढ़ाकर 50000 कर दें। लेकिन अगर सरकार ऐसा नहीं करती है तो आने वाले समय में इसका खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ेगा। वहीं सरकार के इस फैसले के बाद बेरोजगारों ने सोशल मीडिया पर सरकार के खिलाफ एक बार में ही अभियान शुरू कर दिया है. जिसके बाद देशभर में #REET_K_post_increasing_50000_karo_ ट्रेंड कर रहा है।

  शाम की बैठक में कई फैसले
  गुरुवार शाम मुख्यमंत्री आवास पर हुई शिक्षा विभाग की बैठक में कई फैसले लिए गए. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा प्रदान करने के लिए खोले जा रहे महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल को लेकर लोगों में अच्छी प्रतिक्रिया है. इन विद्यालयों को और बेहतर बनाने के प्रयास किए जाने चाहिए। साथ ही विश्लेषण करें कि आवश्यकता के आधार पर किन क्षेत्रों में इन विद्यालयों की संख्या अधिक हो सकती है। इन स्कूलों में अंग्रेजी पढ़ाने की क्षमता रखने वाले शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। इसके लिए भर्तियों में उचित व्यवस्था की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.