हीरक जयंती के लिए जयपुर में आये देशभर के राजपूत: हेलिकॉप्टर से हुई फूलों की बारिश

हीरक जयंती के लिए जयपुर में आये देशभर के राजपूत: हेलिकॉप्टर से हुई फूलों की बारिश


भवानी निकेतन में जुटी भीड़। कार्यक्रम में बीजेपी और कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों से जुड़े राष्ट्रीय स्तर के नेताओं के साथ बड़ी संख्या में राजपूत समाज के लोग शामिल हुए।
जयपुर में श्री क्षत्रिय युवक संघ के 75 वर्ष पूर्ण होने पर देशभर से क्षत्रिय समाज के लोग पहुंचे। अनुशासन का पाठ पढ़ाने वाले राजपूत समाज के संगठन श्री क्षत्रिय युवक संघ का हीरक जयंती समारोह सीकर रोड स्थित भवानी निकेतन में दोपहर से शुरू हुआ। कार्यक्रम में बीजेपी और कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों से जुड़े राष्ट्रीय स्तर के नेताओं के साथ बड़ी संख्या में राजपूत समाज के लोग शामिल हुए। सभा स्थल पर मौजूद लोगों पर हेलिकॉप्टर से फूलों की बारिश भी की गई।

राजपूत समाज के इस आयोजन में महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल होने पहुंची। जो परंपरागत पोशाक में नजर आईं।
कार्यक्रम के लिए देशभर से लोग आ रहे हैं। सम्मेलन इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि पहली बार जयपुर में इसका आयोजन हुआ। जिसका आने वाले चुनावों पर सीधा असर होगा। क्योंकि प्रदेश की राजनीति में भी राजपूतों का खासा दखल रहा है। प्रदेश में राजपूत समाज की कुल आबादी करीब 9% है, लेकिन 14% से अधिक सीटों पर सीधा प्रभाव है। राजपूत नेता समाज की आबादी 44 लाख से 58 लाख के बीच होने के दावे करते रहे हैं। जो की कुल आबादी का 11% से अधिक है। लेकिन 2011 में राजपूत जनसंख्या अधिकारिक 37.04 लाख बताई गई। 1931 की जनगणना में प्रदेश में राजपूत आबादी 6.33 लाख थी। ऐसे में राजपूत नेताओं के अनुसार नई जनगणना में रावण राजपूत को मिलाने पर प्रदेश में राजपूतों की संख्या 14% को पार कर जाएगी।
क्षत्रिय युवक संघ का हीरक जयंती समारोह सीकर रोड स्थित भवानी निकेतन में चल रहा।
दरअसल, प्रदेश में विधानसभा चुनाव में कुल सीटों में से 13 से 14% सीटें और लोकसभा चुनाव में 12 से 20% सीटें जीतने में राजपूत समाज सफल होता है। विधानसभा चुनाव में दोनों प्रमुख राजनीतिक दल राजपूतों को प्रमुखता से टिकट देते हैं। वहीं, सभी दलों से राजपूत समाज 40 से 45 तक टिकट पाने में हर बार सफल रहता है। चौंकाने वाली बात यह है कि राजस्थान की यह एकमात्र ऐसी जाति है, जिसके उम्मीदवार 69 साल के चुनावी कालखंड में प्रदेश के अलग-अलग जिलों की कुल 120 सीटों से टिकट पाकर चुनाव जीते हैं। भैरोंसिंह शेखावत अकेले राजपूत हुए जो 3 बार मुख्यमंत्री बने।


सभा में पहुंची लोगों की भीड़ पर दिन में हेलिकॉप्टर से फूल बरसाए गए।
राजनेताओं को मुख्य मंच पर नहीं मिलेगी जगह
राजधानी जयपुर में राजपूत समाज की ओर से आयोजित होने वाले इस हीरक जयंती कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए क्षत्रिय युवक संघ के साथ ही राजपूत समाज से जुड़े राजनीतिक लोग भी लगातार जुटे हुए हैं। क्षत्रिय युवक संघ की हीरक जयंती के मोके पर देशभर के सभी राजपूत मंत्री विधायक मौजूद रहेंगे। इस दौरान मंच पर किसी भी राजनीतिक व्यक्ति को जगह नहीं दी जाएगी। भले ही वह केंद्रीय मंत्री या प्रदेश में मंत्री क्यों न हो। मुख्य मंच पर केवल क्षत्रिय युवक संघ के संरक्षक भगवान सिंह रोहलसाबसर, क्षत्रिय युवक संघ के प्रमुख लक्ष्मण सिंह और महावीर सिंह सरवड़ी ही मौजूद रहेंगे।

हीरक जयंती में पहुंचे युवाक केसरी रंग के साफे में नजर आए।
25 हजार वाहनों की पार्किंग
आयोजन समिति के अनुसार पार्किंग की व्यवस्था श्री भवानी निकेतन स्कूल प्रांगण में ही की गई है। इसका पूरा रूट मैप तैयार कर लिया गया है। कुल 12 अलग-अलग दरवाजों से बाहर से आने वाली बस और अन्य वाहनों की प्रवेश और निकासी होगी। जयपुर अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर हैदर अली जैदी समेत आला पुलिस अधिकारी कानून व्यवस्था के साथ ट्रेफिक व्यवस्था देख रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.