दिल्ली : रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल से बढ़ेने वाली है, मरीजों की परेशानी

दिल्ली में रेजिडेंट डॉक्टरों की स्ट्राईक से मरीजों की परेशानी बढ़ने  वाली है।
Doctors Strike: 

राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से स्वास्थ्य सेवाएं ठप होने   वाली हैं, जिससे मरीजों को दिक्कतो का सामना करना पड़ सकता है। रेजिडेंट डॉक्टरों के संगठन फेडरेशन आफ रेजिडेंट डाक्टर्स एसोसिएशन (फोर्डा) ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया को पत्र लिखकर 17 दिसंबर यानि आज से दिल्ली के सभी अस्पतालों में ओपीडी और इमरजेंसी सेवाएं ठप कर हड़ताल करने का एलान किया है, साथ ही संगठन ने दिल्ली के अलावा दूसरे राज्यों के मेडिकल कालेज में भी रेजिडेंट डॉक्टरों से हड़ताल में शामिल होने की अपील की है।

 हड़ताल पर जाने के लिए क्यों मजबूर हुए डॉक्टर 

फोर्डा के मुताबिक, आश्वासन मिलने के सप्ताह भर बाद भी केंद्र सरकार की ओर से उनकी मांग पर कोई जवाब नहीं मिला है. नीट-पीजी काउंसलिंग के मामले में अभी भी केंद्र सरकार ने कोई  तारीख घोषित नहीं की है, इसलिए रेजिडेंट डॉक्टर फिर से हड़ताल पर जाने को मजबूर हो गए हैं। इससे पहले भी तीन दिसंबर को डाक्टरों ने इसी बात को लेकर हड़ताल की थी, जिसके कारण दिल्ली में मरीजों को इलाज के लिए बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। इसके बावजूद भी इलाज न मिलने से कई मरीजों की मौत तक हो गई थी।

सप्ताह भर चली हड़ताल के बाद मरीजों की परेशानी को देखते हुए फोर्डा ने 9 दिसंबर से एक सप्ताह के लिए हड़ताल पर अस्थायी रोक लगाई और साथ ही सरकार को काउंसलिंग शुरू करने के लिए एक सप्ताह का वक्त दिया , लेकिन काउंसलिंग शुरू नहीं हुई तो अब संगठन ने फिर से हड़ताल पर जाने का फैसला ले लिया है, फोर्डा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर मनीष ने बताया कि इस बार रेजिडेंट डॉक्टर ओपीडी और इमरजेंसी सेवाओं का एक साथ बहिष्कार करने वाले हैं।

दिल्ली में बढ़ रहे हैं,ओमक्रोन के मामले।

डॉक्टरों की ये हड़ताल ऐसे वक्त में हो रही है जब दिल्ली पर ओमिक्रोन का  घोर संकट मंडरा रहा है। दिल्ली में ओमिक्रॉन के पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 10 है, जो कल तक 8 थी,आज 2 और रिपोर्ट्स पॉजिटिव आने के बाद 10 हो गई है। इनमें से एक मरीज को ठीक करके डिस्चार्ज कर दिया गया है, जबकि अभी भी LNJP में कुल 9 ओमिक्रॉन पॉजिटिव मरीज भर्ती पड़े हैं, उनमें से अभी तक कोई भी गंभीर केस नहीं है। एलएनजेपी में ओमिक्रॉन से जुड़े कुल 40 मरीज अभी भर्ती हैं, जिनमें से 38 पॉजिटिव हैं तथा 2 सस्पेक्ट है । एयरपोर्ट से आने वालों में काफी लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं।bLNJP में 40 बेड्स का डेडिकेटेड ओमिक्रॉन वार्ड था जिनकी  संख्या बढ़ने के बाद अब यहां बेड्स की संख्या भी बढ़ाकर 100 कर दी गई है.
Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.