Late CDS बिपिन रावत हेलिकॉप्टर हादसे के कारणों का पता चलेगा। हादसे की जांच अगले 2 हफ्ते में पूरी होने की संभावना

Bipin Rawat Helicopter Crash Enquiry:
तमिलनाडु के कुन्नूर में पिछले दिनों 8 दिसंबर को CDS बिपिन रावत  समेत हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मारे गए 14 लोगों की मौत के कारणों की जांच के लिए रक्षा मंत्रालय की ओर से गठित ट्राई सर्विस इंक्वायरी की जांच अगले 2 सप्ताह के भीतर पूरी होने वाली है। सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी गुरुवार को दी है।जांच का नेतृत्व भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) के एक अधिकारी और देश के सर्वश्रेष्ठ हेलिकॉप्टर पायलट एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह और भारतीय सेना और भारतीय नौसेना के एक-एक ब्रिगेडियर-रैंक के अधिकारी कर रहे हैं। 

शीर्ष सरकारी सूत्रों ने बताया कि जांच दल गवाहों के बयान दर्ज कर रहा है, जिसमें तमिलनाडु के नीलगिरी जिले में दुर्घटनास्थल के पास घटनास्थल पर मौजूद लोग शामिल हैं।उन्होंने कहा कि बयान दर्ज किए जा रहे हैं और एक या दो मामलों में कुछ लोगों ने घटनाओं का लेखा-जोखा बदल दिया है। शीर्ष सरकारी सूत्रों ने बताया कि टीम के अगले दो हफ्तों में अपनी कार्रवाई पूरी करने की पूरी पूरी संभावना है।उल्लेखनीय है कि, घटना के अगले ही दिन जांच टीमों ने अपना काम शुरू कर दिया था। 

जल्द होगी नए सीडीएस की नियुक्ति

 रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व्यक्तिगत रूप से इस जांच प्रक्रिया की निगरानी कर रहे हैं और उन्हें संबंधित अधिकारियों द्वारा नियमित रूप से अपडेट किया जा रहा है। भारतीय वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी भी कार्यवाही की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। सेना मुख्यालय को जांच के नतीजे का इंतजार है क्योंकि बल ने अपने सबसे वरिष्ठ अधिकारी और देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ सहित 13 अन्य लोगों को खो दिया है। रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि नए सीडीएस की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और जल्द ही नाम की घोषणा की जाएगी। 


Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.