जयपुर में 8वीं कक्षा तक बंद: राजस्थान में शादियों में 100 और अंतिम संस्कार में 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे; धार्मिक स्थलों पर चढ़ावे पर प्रतिबंध

जयपुर में 8वीं कक्षा तक बंद: राजस्थान में शादियों में 100 और अंतिम संस्कार में 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे; धार्मिक स्थलों पर चढ़ावे पर प्रतिबंध



राजस्थान सरकार ने कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पाबंदियां बढ़ा दी हैं. जयपुर के दोनों नगर पालिका क्षेत्रों में कक्षा एक से आठवीं तक के स्कूल (सार्वजनिक और निजी) आज, सोमवार से 9 जनवरी तक बंद कर दिए गए हैं। शेष जिलों में स्कूल बंद रखने का निर्णय जिला कलेक्टर और शिक्षा विभाग द्वारा संयुक्त रूप से लिया जाएगा।

  अब राज्य में हर सामाजिक और राजनीतिक आयोजन में सिर्फ 100 लोग ही हिस्सा ले सकेंगे. शादी समारोह में 100 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकते हैं। बैंडर्स को 100 की सीमा से बाहर रखा गया है। अंतिम संस्कार के लिए 20 लोगों की सीमा तय की गई है। अधिक लोग पाए जाने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। स्कूलों के अलावा अन्य प्रतिबंध 7 जनवरी से प्रभावी होंगे

  समारोह से पहले एसडीएम की अनुमति जरूरी
  विवाह समारोह के लिए एसडीएम की अनुमति जरूरी डीओआईटी पोर्टल पर जाकर ऑनलाइन जानकारी देनी होगी, जिसकी अनुमति होगी। बिना पूर्व अनुमति के विवाह समारोह संपन्न होने पर दंड व कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

  धार्मिक स्थलों पर प्रसाद और पूजा सामग्री चढ़ाने पर रोक
  धार्मिक स्थलों पर प्रसाद, पूजा सामग्री या चादर ले जाना प्रतिबंधित है। केवल वे लोग जिन्होंने टीके की दोनों खुराक ले ली हैं, धार्मिक स्थलों पर जा सकते हैं। आगंतुकों को मास्क और सामाजिक दूरी का उपयोग करना होगा।

विदेश से आने वालों के लिए एयरपोर्ट पर आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य
  विदेश से आने वाले हर यात्री का एयरपोर्ट पर आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाएगा। विदेश से आने वाले हर यात्री को आरटी-पीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव आने तक क्वारंटीन रहना होगा। बाहर से आने वाले यात्रियों के पास होम और इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन दोनों का विकल्प होगा।

  बाहरी यात्रियों के लिए वैक्सीन की दोहरी खुराक अनिवार्य
  दूसरे राज्यों से आने वाले हवाई और रेल यात्रियों को वैक्सीन की डबल डोज का सबूत दिखाना होगा। यदि वैक्सीन की दोनों खुराक का उपयोग नहीं किया जाता है, तो ऐसे हवाई और ट्रेन यात्रियों की आरटी-पीसीआर परीक्षण रिपोर्ट नकारात्मक आने तक उन्हें क्वारंटाइन रहना होगा।

  रात का कर्फ्यू और मास्क पर सख्ती
  रात के कर्फ्यू और मास्क पर सख्ती शुरू होगी। नगरों में रात्रि कर्फ्यू के दौरान अनावश्यक रूप से पुलिस नाकाबंदी कर बाहर निकलने वालों के वाहन जब्त करने या चालान करने जैसी कार्रवाई की जायेगी. सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क के दिखने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा।

  1 फरवरी से हर जगह बिना टीकाकरण नो एंट्री
  1 फरवरी से वैक्सीन की दोनों डोज लगाए बिना कहीं एंट्री नहीं मिलेगी। गाइडलाइन में टीकाकरण को अनिवार्य करने का भी प्रावधान होगा। फरवरी से सार्वजनिक परिवहन सहित किसी भी सरकारी कार्यालय, बाजार, सार्वजनिक स्थान पर जाने के लिए वैक्सीन की दोनों खुराक होने का प्रमाण दिखाना होगा। वैक्सीन की दोनों डोज लगाए बिना आपको घर से बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा। गृह विभाग इसके लिए अलग से नोटिफिकेशन जारी करने की तैयारी कर रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.