Reliance Jio: Reliance Jio देश के 1,000 शहरों में 5G नेटवर्क लाने की तैयारी में है, कई इलाकों में पायलट रन जारी है।

Reliance Jio: Reliance Jio देश के 1,000 शहरों में 5G नेटवर्क लाने की तैयारी में है, कई इलाकों में पायलट रन जारी है।

Reliance Jio: देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी Jio (Jio) ने देश के 1,000 छोटे और बड़े शहरों में 5G नेटवर्क कवरेज (5G नेटवर्क) इंफ्रास्ट्रक्चर स्थापित करने की योजना बनाई है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए जियो अपने फाइबर नेटवर्क के विस्तार के साथ एक पायलट योजना भी चला रही है। वीआई और एयरटेल भी अपनी 5जी सेवा शुरू करने जा रहे हैं। रिलायंस जियो इन्फोकॉम के अध्यक्ष किरण थॉमस ने भारत में 5जी सेवाएं मुहैया कराने से जुड़ी अपनी तैयारियों का ब्योरा देते हुए कहा कि इसके लिए कंपनी ने कई टीमें बनाई हैं.

  जियो के मुताबिक देश के 1000 शहरों की लिस्ट तैयार है जहां 5जी नेटवर्क लेने की योजना बनाई गई है। जियो फिलहाल इसके लिए एडवांस यूज केस का ट्रायल कर रहा है। 5G का उपयोग स्वास्थ्य सेवा और औद्योगिक स्वचालन के लिए भी बड़े पैमाने पर किया जाना है। कंपनी ने कहा है कि देश के कई शहरों में 5जी पायलट प्रोग्राम चल रहा है। 5जी नेटवर्क शुरू करने के लिए 3डी मैप्स और रे ट्रेसिंग टेक्नोलॉजी के साथ नेटवर्क प्लानिंग का काम चल रहा है। यह काम देश के कई शहरों में एक साथ हो रहा है।


  इस तकनीक का उपयोग करना:


  जियो का कहना है कि अब तक की सबसे आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल 5जी नेटवर्क प्लानिंग के लिए किया जा रहा है। 5जी नेटवर्क शुरू करने के लिए 3डी मैप और रे ट्रेसिंग तकनीक को सबसे उन्नत माना जाता है। इस उन्नत तकनीक का इस्तेमाल देश के हर हिस्से में हो रहा है क्योंकि सरकार से मंजूरी मिलते ही पूरे देश में एक साथ 5जी नेटवर्क शुरू हो जाएगा. उस समय इस नई तकनीक को रोल आउट करने की जहमत न उठाएं, इसकी तैयारी पहले से ही चल रही है.


  इस साल होगी स्पेक्ट्रम नीलामी:


  5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में होने की उम्मीद है। चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के 31 दिसंबर तक जियो के 42.1 करोड़ ग्राहक हैं। जियो से हर साल करीब 1.02 करोड़ नए ग्राहक जुड़ रहे हैं। हालांकि, दो तिमाहियों के बीच जियो के ग्राहकों की संख्या में कमी आई है। पिछले साल की समान तिमाही और इस साल की तिमाही के बीच जियो के ग्राहकों में 84 लाख ग्राहकों की कमी आई है। यह कमी इसलिए देखी जा रही है क्योंकि सिम कंसॉलिडेशन और एक्टिव ग्राहकों की संख्या बंद हो गई है। सिंगल सिम के इस्तेमाल में बढ़ोतरी और टैरिफ में बढ़ोतरी भी इसका कारण हो सकता है।


  पहले ही बढ़ चुकी है कंपनी की कमाई:


  एक रिपोर्ट के मुताबिक, Jio का ARPU लगभग स्थिर है और इसमें न तो गिरावट है और न ही बढ़ोतरी। लेकिन कंपनी का एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर या एआरपीयू 8.4 फीसदी बढ़कर 151.6 रुपये हो गया है। यह एक साल का आंकड़ा है। इंटरकनेक्शन उपयोग शुल्क को समायोजित करके इस कमाई में वृद्धि हुई है। जियो को यह चार्ज दूसरे ऑपरेटरों को देना होगा। 1 जनवरी, 2021 से इंटरकनेक्शन यूसेज चार्ज घटाकर जीरो कर दिया गया है। इससे लगभग सभी कंपनियों की कमाई बढ़ गई है। दिसंबर 2021 को समाप्त तिमाही में Jio Platforms ने 8.8% की वृद्धि के साथ 3,795 करोड़ रुपये कमाए हैं।




Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.